Friday, 7 January 2011

विधायक ने लगाया बांदा एसपी पर आरोप

सहारा समय 06 Jan 2011 11:31:04 PM IST

विधायक ने लगाया बांदा एसपी पर आरोप

उत्तर प्रदेश कांग्रेस से बांदा के सदर विधायक विवेक कुमार सिंह ने शीलू बलात्कार कांड में पुलिस अधीक्षक पर आरोप लगाया है.


उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया चेयरमैन एवं विधायक जारी एक बयान में शीलू बलात्कार कांड में न्यायालय के आदेश के बाद जेलर द्वारा पत्रावली पुलिस अधीक्षक बांदा को एफआईआर करने के आदेश देने के बाद भी पुलिस अधीक्षक द्वारा अभी तक एफआईआर दर्ज न कराने के आदेश जारी न करने की तीव्र शब्दों में निंदा की है.

उन्होंने कहा है कि इस घटना में जब तक बांदा पुलिस अधीक्षक पद पर अनिल दास मौजूद हैं तब तक सीबीसीआईडी कुछ नहीं कर सकती, यह पुलिस अधीक्षक स्वयं एक पार्टी हैं जो शीलू को छह घंटे तक जेल में रहकर धमकाते रहे तथा शीलू को रूपया देने की पेशकश करते रहे, जिन्हें स्वयं मैंने जेल में रंगे हाथ पकड़ा है तथा जेल रजिस्टर में अपनी आपत्ति दर्ज करते हुए सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एवं इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को न्यायिक अभिरक्षा में बंद कैदी को न्यायिक कार्यों में बाधा पहुंचाने के लिए लिखा है.

श्री सिंह ने कहा कि पुलिस अधीक्षक जैसे पद पर बैठे आईपीएस अधिकारी द्वारा स्वयं ही न्यायिक व्यवस्था को एक तरफ रखकर पुलिस अधिकारियों के साथ कैदियों को धमकाया जाना व रूपये लेकर बयान बदलने के लिए विवश करना, लोकतांत्रिक व्यवस्था पर कुठाराघात है. पुलिस अधिकारी, पुलिस कस्टडी में तो पूछताछ कर सकते हैं किन्तु जब कैदी न्यायिक अभिरक्षा में हो तो सिवाय आईओ के अन्य कोई भी अधिकारी जेल में बंदी से पूछताछ नहीं कर सकता, वह भी न्यायालय की अनुमति हो.
तत्कालीन डी.आई.जी. ने जब इसका विरोध किया तो उनको शासन द्वारा तत्काल हटा दिया गया, जबकि दोषी पुलिस अधीक्षक के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई. जबकि विधायक सदर के रूप में स्वयं मैंने उनको जेल में पकड़ा है.

श्री सिंह ने कहा कि नरैनी बांदा के विधायक पुरूषोत्तम नरेश द्विवेदी द्वारा स्वयं यह कहना कि मैं सेक्स के काबिल नहीं हूं, प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि या तो आदमी जन्म से ही नपुंसक होता है या वह हिजड़ा जो न तो नर में हो या न ही नारी जाति में हो.

श्री सिंह ने कहा कि जब एक नाबालिग लड़की अपने बयान में न्यायालय में जो आरोप लगा रही है कि विधायक ने दो बार बलात्कार किया है तीसरी बार संभोग के लिए पकड़ने पर मैं भाग गई इसके बाद सिवाय उनकी गिरफ्तारी के दूसरा कोई उपाय नहीं है.

श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री अगर वास्तव में इस पिछड़े वर्ग की नाबालिग लड़की को न्याय दिलाने के लिए तत्पर हैं तो तत्काल पुलिस अधीक्षक बांदा को सस्पेंड करें ताकि निष्पक्ष जांच हो सके. नौटंकी करके सत्तादल के विधायक को बचाने का प्रयास न करें.

No comments:

Post a Comment